Desh Bhaktike Geet

घड़ा कैसा बने?-इसकी एक प्रक्रिया है। कुम्हार मिटटी घोलता, घोटता, घढता व सुखा कर पकाता है। शिशु, युवा, बाल, किशोर व तरुण को संस्कार की प्रक्रिया युवा होते होते पक जाती है। राष्ट्र के आधारस्तम्भ, सधे हाथों, उचित सांचे में ढलने से युवा समाज व राष्ट्र का संबल बनेगा: यही हमारा ध्येय है। "अंधेरों के जंगल में, दिया मैंने जलाया है। इक दिया, तुम भी जलादो; अँधेरे मिट ही जायेंगे।।" (निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/निशुल्क सदस्यता व yugdarpan पर इमेल/चैट करें, संपर्कसूत्र- तिलक संपादक युगदर्पण
मीडिया समूह YDMS 09911111611, 9999777358.

Tuesday, January 28, 2014

स्वामी विवेकानंद जी के विचार (शिक्षा)-

स्वामी विवेकानंद जी के विचार (शिक्षा)-
 शिक्षा के बारे में स्वामी विवेकानंद जी ने कहा था जिस शिक्षा से हम अपना जीवन निर्माण कर सकें, मनुष्य बन सकें, चरित्र गठन कर सकें और विचारों का सामंजस्य कर सकें, वही वास्तव में शिक्षा कहलाने योग्य है। किन्तु आजादी के पश्चात् श्रेष्ठ शिक्षा के स्थान पर, आधुनिक शिक्षा के नाम पर पहले हमें मैकाले वादी शिक्षा ने केवल घर परिवार का बोझ ढोने योग्य ढर्रे से जोड़ा। फिर धीरे धीरे बाहरी जनसँख्या के दबाव में सीमित रोजगार व असंवेदनशील नेतृत्व ने रोजगार के अवसर भी छीन लिए। अराजकता की स्थिति बना कर शिक्षा के क्षेत्र में राष्ट्र द्रोहियों को स्थापित कर दिया। 
इसी का परिणाम है, आज तथा कथित NCERT राष्ट्रीय शिक्षा अनुसन्धान प्रशिक्षण परिषद् में देश की पीढ़ियों को अंधकार, अनैतिकता व अराजकता में धकेलने के साथ राष्ट्रिय मूल्यों व संस्कृति के प्रति असंवेदनशील बनाने के कुचक्र (अनुसन्धान) चल रहे हैं। किन्तु हर बात में नगाड़ा बजाने वाला मीडिया मौन है। 
क्या आप सहमत हैं ? YDMS (युदमीस) का शिक्षा दर्पण 2010 से इस विषय पर चेतना जगाने का कार्य कर रहा है, इस से जुड़ कर आप इस कार्य को गति दे, अभियान बना सकते हैं। विविध विषयों के 28 ब्लॉग हैं। 
नकारात्मक बिकाऊ मीडिया जनता को भ्रमित करे, तब पायें 
नकारात्मक बिकाऊ मीडिया का सकारात्मक राष्ट्रवादी व्यापक सार्थक विकल्प, युगदर्पण मीडिया समूह YDMS.
यदि आप भी मुझसे जुड़ना चाहते हैं, तो आपका हार्दिक स्वागत है, संपर्क करें औऱ अपने सम्पर्क सूत्र सहित बताएं, कि आप किस प्रकार व किस स्तर पर कार्य करना चाहते हैं, तथा कितना समय देना चाहते हैं ? आपका आभार अग्रेषित है। युग दर्पण प्रशंसक समूह YDPS -तिलक,
 संपादक युगदर्पण मीडिया समूह  09911111611, 07531949051
हमें, यह मैकाले की नहीं, विश्वगुरु की शिक्षा चाहिए |
आओ, मिलकर इसे बनायें; - तिलक
"अंधेरों के जंगल में, दिया मैंने जलाया है |
इक दिया, तुम भी जलादो; अँधेरे मिट ही जायेंगे ||"- तिलक

Wednesday, January 15, 2014

66वाँ भारतीय सेना दिवस 
आइये इसे हम (राष्ट्र रक्षा संकल्प दिवस) के रूप में मनाएं। 
हमारे 66वें भारतीय सेना दिवस पर, भारत माँ के वीर सपूतों को हम शत शत नमन करते हैं। 
मुझे तोड़ लेना वनमाली उस पथ पर तुम देना फैंक, 
मातृभूमि पर शीश चढाने जिस पर जाते वीर अनेक। ...... अधिक जानकारी हेतु यहाँ बटन दबाएँ। ...... 

66वाँ भारतीय सेना दिवस

WEDNESDAY, JANUARY 15, 2014

यह राष्ट्र जो कभी विश्वगुरु था, आज भी इसमें वह गुण,  योग्यता व क्षमता विद्यमान है |
 आओ मिलकर इसे बनायें; - तिलक
"अंधेरों के जंगल में, दिया मैंने जलाया है |
इक दिया, तुम भी जलादो; अँधेरे मिट ही जायेंगे ||"- तिलक

Monday, January 13, 2014

ज्ञानपुंज, स्वामी विवेकनन्द जी,

ज्ञानपुंज, स्वामी विवेकनन्द जी, 
उठो जागो और तब तक आगे बढ़ते रहो, जब तक भारत पुन: विश्व गुरु के आसान पर आरूढ़ न हो  जाये। शिकागो विश्व धर्म संसद में, अपने दिव्य ओजस्वी भाषण से चकित कर परतंत्र भारत को विश्व में सम्मान दिलाने वाले, स्वामी विवेकनन्द जी, सरस्वती जिनकी जिह्वा पर विराजती थी।  जन्म 13 जनवरी, 1863, तथा कम आयु में ही चमत्कारिक ज्ञान से विश्व को प्रकाशमय कर देनेवाले (नरेंद्र ) स्वामीजी की वर्षगांठ पर हमारी कोटि कोटि शुभकामनायें व बधाई। आइये, इनका अनुसरण कर जीवन को तमस मुक्त, प्रकाशयुक्त करने का संकल्प लें।
13 जन, 2013 से 2014 जन्म शतार्द्ध (150 वीं ) वर्षगांठ संपन्न हुई।
Like - @[404473279637161:274:Swami Vivekanand]
आप सभी को लोहड़ी तथा मकर संक्रांति पर्व की सपरिवार बहुत बहुत बधाई।
इतिहास को सही दृष्टी से परखें। गौरव जगाएं, भूलें सुधारें।
आइये, आप ओर हम मिलकर इस दिशा में आगे बढेंगे, देश बड़ेगा। तिलक YDMS
जीवन ठिठोली नहीं, जीने का नाम है | जीने अथवा आगे बढ़ने का मार्ग मिलेगा, जब (भारत व इंडिया में अंतर) समझेंगे। 
मेरा भारत, मैं भारत का (Not India)
यह सम्बन्ध बनता है, देश व समाज की जड़ों से जुड़कर। 
क्या आप भी स्वयं को देश की जड़ों से जुड़ा पाते हैं ? तो आपका यहाँ स्वागत है !
https://www.facebook.com/groups/189817947851269/
(भारत व इंडिया में अंतर क्या है, जाने ?) 
अधिक जानकारी के लिए यहाँ बटन दबाएँ -

मेरा भारत, मैं भारत का (Not India)

गुरुवार, 9 जनवरी 2014

नकारात्मक बिकाऊ मीडिया जनता को भ्रमित करे, तब जो 40 पृष्ठ में न मिल सके वो 4से 6 पृष्ठ में पायें 

नकारात्मक बिकाऊ मीडिया का सकारात्मक राष्ट्रवादी विकल्प युगदर्पण मीडिया समूह YDMS. 
2001 से युगदर्पण समाचारपत्र द्वारा सार्थक पत्रकारिता और 2010 से हिंदी ब्लॉग जगत में विविध विषयों के 28 ब्लॉग के माध्यम व्यापक अभियान चला कर 3 वर्ष में 60 देशों में पहचान बनाई है। तथा काव्य और लेखन से पत्रकारिता में अपने सशक्त लेखन का विशेष स्थान बनाने वाले तिलक राज के 10 हजार पाठकों में लगभग 2000 अकेले अमरीका में हैं।  यदि आप भी मुझसे जुड़ना चाहते हैं, तो आपका हार्दिक स्वागत है, संपर्क करें औऱ अपने सम्पर्क सूत्र सहित बताएं कि आप किस प्रकार व किस स्तर पर कार्य करना चाहते हैं, तथा कितना समय देना चाहते हैं ? आपका आभार अग्रेषित है। -तिलक, संपादक युगदर्पण मीडिया समूह  09911111611, 07531949051 
कभी विश्व गुरु रहे भारत की, धर्म संस्कृति की पताका;
विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये |
"अंधेरों के जंगल में, दिया मैंने जलाया है | इक दिया, तुम भी जलादो; अँधेरे मिट ही जायेंगे ||"- तिलक

Monday, January 6, 2014

आआपा का बदलता चेहरा और चरित्र

आआपा का बदलता चेहरा और चरित्र


AAP alliance with the new party "Awami Ettihaad" Which believe on J & k to be part of Pakistan ! Hell !! #RamdevNaMo
 आवामी इत्तिहाद जो कश्मीर को  पाकिस्तान का अंग मानती है, उसे  आआपा का समर्थन क्या दर्शाता है ? http://bharatasyasharmnirpekshvyavastha.blogspot.in/2014/01/blog-post_6.html
 जो शर्मनिरपेक्ष, अपने दोहरे चरित्र व  कृत्य से- देश धर्म संस्कृति के शत्रु;  राष्ट्रद्रोह व अपराध का संवर्धन, पोषण  करते। उनसे ये देश बचाना होगा। तिलक
 YDMS 9911111611, 7531949051
इतिहास को सही दृष्टी से परखें। गौरव जगाएं, भूलें सुधारें।
आइये, आप ओर हम मिलकर इस दिशा में आगे बढेंगे, देश बड़ेगा । तिलक YDMS
भारतीय संस्कृति की सीता का हरण करने देखो | छद्म वेश में फिर आया रावण |
संस्कृति में ही हमारे प्राण है | भारतीय संस्कृति की रक्षा हमारा दायित्व || -तिलक
"अंधेरों के जंगल में, दिया मैंने जलाया है |
इक दिया, तुम भी जलादो; अँधेरे मिट ही जायेंगे ||"- तिलक

Saturday, January 4, 2014

मीडिया सेंटर में प्रधानमंत्री का सम्मेलन

आर्थिक स्थिति शीघ्र ही सुधरेगी :मनमोहन
प्रधामनंत्री ने अर्थव्यवस्था सुधरने की आशा में अपने सरकार की थपथपाई पीठ,
प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने आज दिल्ली के मीडिया सेंटर में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में अपने ढंग से संप्रग-2 सरकार की असफलताओं को स्वीकारा, कि सरकार में विकास दर घट गयी, आर्थिक असमानता बढ़ गयी और रोजगार के अवसरों में कमी आई। फिर उन भी असफलताओं को ढकने व अर्थव्यवस्था सुधरने की झूठी आशा में अपनी सरकार की पीठ थपथपाई। 
जो मीडिया इनके करोड़ों के विज्ञापन पर आश्रित है, उन्ही के भ्रमजाल के बल पर झूठा प्रचार किस प्रकार किया जाता है यह इस संवाददाता सम्मलेन से स्पष्ट दृष्टिगोचर होता है।
अधिक जानकारी हेतु यहाँ बटन दबाएँ 

मीडिया सेंटर में प्रधानमंत्री का सम्मेलन

यह राष्ट्र जो कभी विश्वगुरु था, आज भी इसमें वह गुण, योग्यता
व क्षमता विद्यमान है | आओ मिलकर इसे बनायें; - तिलक
"अंधेरों के जंगल में, दिया मैंने जलाया है |
इक दिया, तुम भी जलादो; अँधेरे मिट ही जायेंगे ||"- तिलक